Need Indian Karaoke ?

स्वागत

नमस्कार मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत हैं, काफी ज्योतिष विद्वानों के साथ रह कर और गुरु जी की कृपा से ज्योतिष सीखी, खूब अध्ययन किया फिर कुछ इसे ज्योतिष मित्रो से मुलाकाते हुई जो ज्योतीस का व्यव्शायिक उपयोग करते हैं और हद तो तब होती हैं जब वो किसी से वो असी असी बातो के पैसे ले हैं जिनका ज्योतिष से कोई सरोकार ही नहीं हैं यानी एक ज्योतिषी तांत्रिक भी बन बेठा और ज्योतिषी भी बड़ा दुःख और आश्चर्य होता जब लोग उनकी बातो पर यकीं भी करते और उनको पैसा भी देते फिरक पड़ना या न पड़ना दूसरी बात हैं कोई ज्योतिषी भगवन नहीं हो सकता न ही कोई भी कांफिडेंस से ये दावा कर सकता हैं की १००% काम होगा ही होगा क्योंकी अगर भाग्य पर विश्वाश हैं तो कर्म पर भी होना हैं एक महाशय से मुलाकात हूई इस ज्योतिष यात्रा में तो जनाब ने बताया एक पर्सन का उतर देने के वो ५००० रुपये लेते हैं अपने आप को इसे पेश करते हैं की आम आदमी तो बेचारा उनके सामने बताने से ही ढेर हो जाये यंहा एक बात और ज्योतिषी को एक अच्छा वक्ता होने की भी जरुरत हैं, यंहा ब्लॉग लिखने का कारन यही हैं में व्यावसायिक ज्योतिषी नहीं हूँ न ही बनाना चाहता हूँ पर अपने गुरु के द्वारा दिए गए ग्यान को गवाना भी नहीं चाहता बस यही कारन हैं के मैंने ये ब्लॉग बना डाला इस ब्लॉग में आप की कोई भी समस्या हो में हर संभव कोशिस करूँगा की आप की समस्या का हल निकल पाऊ आप मेरे से vinod.rankas@gmail.com पर समपर्क कर सकते हैं समय मिलते ही आप को जवाब जरुर दूंगा और 9252498385 पर संपर्क कर सकते हैं पर फोन पर समपर्क तभी करे जब आप की समस्या अति गंभीर हो और तुंरत समाधान चाहिए हो अनावश्यक फोन न करे और मेल पर समपर्क कर ले धन्यवाद्

THOS UPAY

नमस्कार  

          आज इसी बात बताता हूँ की हंसी  आती हैं  कभी कभी तो एसा लगता हैं जैसे मैंने ज्योतिष सिख कर मजाक  बना लिया मैंने खेर इसमें भी पुरनी  घार्नाये  काम कराती हैं  अपने  बुजर्गो ने वैसे तो सही कहा हैं पर एक दिन मैं अपने ऑफिस मैं बता था तो एक वर्धा ओरत आई अपने बेटे के साथ जिसे कोई काम नहीं मिल रहा था और अगले दिन उसका इंत्रेविउव था  
मैंने उसकी कुंडली देखि और उससे कहा की अपनी जेब मैं ४ काली मिर्च रखे और इन्तेर्विएव देने जाये सफल होने के 
बहूत चांस थे  देख के बता दिया तो वो  ओरत बोली पंडित जी ( वैसे पंडित नहीं हूँ ) कोई ठोस उपाय बताऊ   मतलब  जब तक लोगो को ये  को कोई खर्चा न बताऊ पूजा पाठ ना बताऊ तब तक उनको लगता हैं की मैंने टाइम पास कर रहा हूँ 
खेर  उसके बाद मैं उसकी नोकरी भी लग गयी ये सब बाते काम की नहीं हैं पर एसा लगता हैं जब तक लोगो से पैसा या  टाइम
टाइम भी पैसे की अहमियत रखता हैं खास तोर से मेरे लिए  
मैंने गुरु जी से इस बारे मैं बात की तो वो बोले की या तो लोगो के पैसे लगवाओ या फिर उनका टाइम तब लोग तुम पर विश्वाश करेंगे ! खेर मुझे अपना मुकाम मिल चूका हैं जन्हा मुझे न तो लोगो के पैसे की जरुरत हैं न ही टाइम की पर कभी कभी सोचता हूँ 
 की लोग भी तब तक आप पर विश्वाश नहीं करेंगे जब तक आप उनको पूजा पाठ  तंत्र मंत्र के बारे मैं नहीं बताओगे  मेरे पास तो इसे ही सरल और सीधे उपाय हैं ! किसी ग्रह को शांत करना हो तो उससे संबधित चीज या तो दान करो 
 या फीर अपने पास रखो 
                              इसका भी अपना लोगिक हैं जरुरत पड़ने पर आप को बताऊंगा :) धन्य वाद आपने मेरा लेख पढ़ा पर एक बात कहना चाहूँगा इन्सान की हर समस्या का हल छिपा हैं ज्योतिष मैं  बस जरुँरत हैं उसे पहचाने की कोनसा गरह कब काम करेगा 
                                                                                                   इते  शुभम विदा लेता हूँ आपसे  
                                                                                                  आप का     विनोद रांका



5 comments:

बेनामी 10 अक्तूबर 2009 को 9:22 pm  

bahoot achhe vinod ji meri date of birth 1-1-1976 time 3:00 pm janm sthan jameshed pur mera parshan ye hain ki mere santan nahi ho rahi kya aap bata sakate hain kya hoga mera

बेनामी 15 अगस्त 2010 को 10:55 pm  

Respected Vinod ji,
You are absolutely right, money minded astrologers also playing with clients emotion & faith. They behave just like God’s contractors.
Regards.
Vijay

बेनामी 26 जुलाई 2013 को 7:46 pm  

Panditji panama D.O.B.14jan.1978jaipur(RAjsthan) mère husband ki. D.O.B.04November1974 indore. Hum dont ki saadi28ferbury 2000 me hui. Latin hameau talk ki nobat rahti hai Mari peahr. Sasu ural pad os kisi se nahi nanti jubki bahut sahan karti neuverti hu. Husband ka behave. Àsa. Hai jase. Paas ne kuch. Tant ra kar diya ho kràpya upay bataaye

bharat chobisa 28 मार्च 2014 को 9:06 am  

Panditji ..mmy dob..29/11/1981 time...9.05 am..i invest in share market but afford great loss... koi upay bataye to gain in field..very thankful to you..

बेनामी 16 अप्रैल 2014 को 10:16 am  

sir
mere panch bhai aur unki family hai jisme se bade bhai expire ho gye hai. mere pitaji hai unka jhukab kewal mere dusre number k bhai ki traf hogya hai lagbhag 10 sal se unki baate mante hai aur tisre number k bhai aur uski family ki sakal bhi dekhna pasand nhi karte hai aisa kyon hai aaj se 10 saal pehle toh aisa nhi tha plz sir meri hailp kijiye....


आपका नाम
ईमेल
Sex

Birth Time
Date of Birth
Birth place
आपका सवाल
Image Verification
captcha
Please enter the text from the image:
[ Refresh Image ] [ What's This? ]